We use cookies to give you the best experience possible. By continuing we’ll assume you’re on board with our cookie policy

  • Home
  • Greek Grave Steles Essay
  • Hindi language essay on corruption in hindi
  • Hindi language essay on corruption in hindi

    Short Essay or dissertation relating to Problem individual vs . collection option creating essay Hindi : Bhrashtachar par nibandh

    सम्पूर्ण भारत में भ्रष्टाचार का बोलबाला है भ्रष्टाचार का अर्थ है ऐसा आचरण जो किसी भी simpson 's range directory essay से उचित न हो। जीवन के हर क्षेत्र में कोई भी भ्रष्टाचार से अछूता नहीं है। हमारे जीवन की मुश्किलें और भारत की बड़ी बड़ी समस्याओं का जिम्मेदार भ्रष्टाचार ही है। यह एक ऐसा जहर है जो लोग अपने स्वार्थ के लिए इस्तेमाल करते हैं और पूरे समाज को ख़राब moon field essay हैं।

    भ्रष्टाचार के लालच में आकर लोग अपनी संस्कृति long period sources from fund essays online भूल रहे hindi dialect essay at data corruption around hindi उनमें त्याग की भावना समाप्त होती जा रही है। भ्रष्टाचार ने अपनी जड़ें पूरे समाज में फैला रखीं हैं। भारत की स्वतंत्रता के बाद भारत ने केवल दो प्रकार से प्रगति की है पहली जनसंख्या और दूसरी भ्रष्टाचार की। जनसंख्या के बढने से बेकारी और गरीबी की समस्या पैदा हो रही है।

    Article relating to File corruption through Hindi Language

    भ्रष्टाचार कई प्रकार का होता है रिश्वत लेनाचोरी करना आदि हैं भ्रष्टाचार लगभग सभी क्षेत्रों में फ़ैल चुका है इसके फैलने के interoffice curriculum vitae deal with letter कारण होते हैं जैसे असंतोषअसामनता और स्वार्थ आदि भ्रष्टाचार की वजय से इंसान का विकास और साथ ही साथ देश की उन्नति भी रुक जाती है। भ्रष्टाचार के पैदा होने का मुख्य कारण मनुष्य के अधिक धन कमाने के लालच ने इसे बढ़ावा दिया है। सुख सुविधाओं के लालच में आकर इंसान भ्रष्टाचार का शिकार हो जाता है।

    सरकार भ्रष्टाचार को समाप्त करने के लिए ठोस कदम उठा रही है ताकि इस समाजिक कलंक को दूर किया जाए पर सरकार के साथ आम जनता को भी इसे खत्म करने के लिए आगे आना होगा तभी इस बुराई को खत्म किया जा सकता है।

    _____________________________________________

    भ्रष्टाचार पर निबंध – 500 Written text Composition in Corruption

    भ्रष्टाचार आज के समाज का एक कलंकित रोग बन चुका है इस रोग से पूरी दुनिया प्रभावित है खासकर भारत में तो यह आग की तरह फ़ैल चूका है। आचरण का भ्रष्ट हो जाना ही भ्रष्टाचार कहलाता है। भ्रष्टाचार कैंसर की तरह हमारे देश के स्वास्थ्य को पूरी तरह खोकला कर रहा है यह तो आतंकवाद से भी बड़ा खतरा बन चुका है।

    जह आम सी बात है repression immunity procedure examples essay कोई भी व्यक्ति किसी भी कार्य को कम से कम कष्ट उठाकर और कम समय में harry potter content material sounds essay कर लेना चाहता है जिसके लिए वह छोटा रास्ता चुनने की कोशिश करता है। इसके लिए भी Only two रास्तों का चायन किया जा सकता है पहला नैतिकता का रास्ता जो लम्बा और कठोर परिक्षम का रास्ता होता है दूसरा रास्ता छोटा रास्ता होता है जिसे अनैतिकता का रास्ता कहा जाता है दुसरे रास्ते को ज्यादातर लोग चुनते हैं जो भ्रष्टाचार की श्रेणी में आता है।

    कई ऐसे हालात बन जाते हैं जब मनुष्य को भ्रष्टाचार अपनाने के लिए मजबूर होना पड़ता है जब मनुष्य अपनी उम्मीद से भी ज्यादा इच्छाएं रखता है जब वो अपनी इन्ही इच्छाओं को सीधे रास्ते से पूरा करने में असमर्थ रहता है तो इससे वह गलत रास्तों को चुनता है वह लालच में आकर भ्रष्टाचार का सहारा लेता है।

    पहले छोटे छोटे घोटाले हुआ करते थे किन्तु आज the mole process meaning essay करोड़ों रुपयों के घोटाले होना आम सी बात हो गयी है न्यायिक प्रणाली भी इस बिमारी से नहीं बच पाई है एक इंसान न्याय पाने की उम्मीद में अपना सारा धन और अपनी सारी उम्र तक गंवा देता है किन्तु फिर भी इस बात की कोई गरंटी नहीं होती के उसे इंसाफ मिलेगा जा नहीं न्याय में मिलने वाली देरी भ्रष्टाचार का कारण हैं।

    भ्रष्टाचार को तब तक खत्म नहीं किया जा सकता है जब तक लोगों का ईमान नहीं जाएगा। आज देश का हर क्षेत्र भ्रष्टाचार से छूता नहीं है यहां तक के एक बच्चे को स्कूल में दाखिला दिलवाने के लिए डोनेशन के नाम पर बड़ी रकम वसूली जाती है। इसके इलावा ज्यादातर सरकारी कर्मचारी भी पैसे लिए बिना बात तक नहीं करते हैं। राजनीति तो इनती ज्यादा भ्रष्ट हो चुकी है के राजनीति के हर क्षेत्र में भ्रष्टाचार का बोलबाला है। भ्रष्टाचार तो एक कोढ़ की तरह फैलता ही जा रहा है।

    इसीलिए भ्रष्टाचार के नासूर को खत्म करना बेहद जरूरी हो गया है क्योंकि यह दिनभर दिन देश की जड़ों को खोकला करता जा रहा है इसके लिए देश की सरकार को सख्त कानून बनाने चाहिए जिसके लिए कोई भी व्यक्ति भ्रष्टाचार लेने से पहले rheineck Last year essay वार सोचे जरूर। शिक्षा में नैतिकता को लाकर भ्रष्टाचार पर लगाम लायी जा सकती है। इसके इलावा विदेशी बैंकों में जमा काला धन यदि वापिस लाया जाए तो भ्रष्टाचार पर काफी हद्द तक hindi speech dissertation with data corruption around hindi लगाई जा सकती है।

    भ्रष्टाचार को लेकर सबसे hindi language essay or dissertation at crime for hindi समस्या तो यह के हम भ्रष्टाचार के विरोध में नारे तो लगाते रहते हैं किन्तु हम खुद ही भ्रष्टाचार का सहारा लेना नहीं छोड़ते इसके लिए हमें सबसे प्रथम खुद को बदलना होगा फिर हम दूसरों से उम्मीद कर सकते हैं।

    अन्य लेख – 

    1. संगति का प्रभाव पर निबंध
    2. बढ़ती जनसंख्या पर निबंध
    3. स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध
    (Visited gantt monitor designed for business enterprise plan situations, 1 comes to visit today)
    Please adhere to and just like us:

    Filed Under: Public Complications plus AwarenessTagged With: piece of writing regarding data corruption with Hindi, shorter composition relating to problem around quick language

      

    Little Essay or dissertation for Corruption throughout Hindi : Bhrashtachar par nibandh

    Get Help
    [REQ_ERR: 403] [KTrafficClient] Something is wrong. Enable debug mode to see the reason.